EBM News Hindi

BJP-JDU ने एक दूसरे की इफ्तार पार्टी से बनाई दूरी, सुशील मोदी बोले- ALL IS WELL

लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद हुए मंत्रीपद बंटवारे से नाखुश जेडीयू लगता है बीजेपी को माफ करने के मूड में नहीं है. रविवार को इसकी एक और बानगी देखने को मिली. हुआ ये कि बिजेपी की इफ्तार पार्टी में जेडीयू का कोई भी नेता शामिल नहीं हुआ. हालांकि मीडिया ने जेडीयू की गैरहाजिरी पर सवाल किए तो बीजेपी इन सवालों को टालती नजर आई.

बीजेपी भी कहां कम है उसने भी जेडीयू को वहीं तेवर दिखाए और जेडीयू की इफ्तार पार्टी में बीजेपी के किसी भी नेता ने शिरकत नहीं की. वहीं उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि इफ्तार का कोई राजनीतिक मतलब नहीं निकालना चाहिए. यह मूलरूप से धार्मिक आयोजन है. सुशील मोदी ने कहा कि सभी जगह एक साथ आयोजन होने से असुविधा हुई. सोमवार को लोजपा की इफ्तार पार्टी में एनडीए के सभी नेता एक साथ शामिल होंगे.

दरअसल मनमुटाव का सारा खेल शुरू हुई शपथ ग्रहण के दिन से जब जेडीयू को बीजेपी की तरफ से सिर्फ एक मंत्री पद ऑफर हुआ. दो मंत्रीपद की आस लगाए बैछे जेडीयू के लिए ये किसी झटके से कम नहीं था. हुआ ये कि जेडीयू ने सरकार में शामिल होने से ही इनकार दिया और दो टूक जवाब दिया कि वो भविष्य में भी मोदी सरकार पार्ट 2 का हिस्सा नहीं बनेगी.