EBM News Hindi

चार जून को आएगा बिल क्लिंटन का पहला उपन्यास ‘द प्रेजिडेंट इज मिसिंग’

वाशिंगटन: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन अब मशहूर उपन्यासकार जेम्स पेटरसन के साथ मिलकर अपना पहला उपन्यास लिखा है. यह उपन्यास एक रोचक कथा पृष्ठभूममि पर होगा जिसमें एक राष्ट्रपति अंतरराष्ट्रीय संकट के दौरान तीन दिन के लिए लापता हो जाता है . इस वजह से अमेरिकी इतिहास में ये बेहद नाटकीय तीन दिन बन जाते हैं . वैश्विक स्तर पर ‘द प्रेजिडेंट इज मिसिंग’ उपन्यास चार जून से उपलब्ध होगा.

प्रकाशक पेंग्विन रेंडम हाउस के मुताबिक , उपन्यास में उन स्थितियों का जिक्र है जिसके कारण पेंसिलवेनिया एवेन्यू और वाल स्ट्रीट ही नहीं बल्कि समूचे अमेरिका में हड़कंप मच जाता है. प्रकाशक ने कहा, ‘समूचे देश में अनिश्चितता और डर का माहौल व्याप्त हो जाता है. साइबर आतंक और जासूसी तथा कैबिनेट में किसी गद्दार के होने की अफवाह उड़ने लगती है. राष्ट्रपति खुद संदिग्ध हो जाते हैं और फिर लापता हो जाते हैं.’ इस तीन दिन के जरिए ‘द प्रेजिडेंट इज मिसिंग’ अमेरिका के भीतर होने वाले कामकाज शैली और खतरों की ओर इशारा करता है .

क्लिंटन ने अपनी किताब के बारे में कहा, ‘द प्रेजिडेंट इज मिसिंग एक गल्प , और रोचक उपन्यास है. जेम्स पेटरसन और मैं राष्ट्रपति के इतिहास के तीन सबसे भयावह दिनों को सामने लेकर आएं हैं.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि पाठक राष्ट्रपति जोनाथन डंकन और उनकी कहानी को नहीं भूलेंगे.’ क्लिंटन 1992 में अमेरिका के राष्ट्रपति चुने गए. वह दो बार राष्ट्रपति बने .

(इनपुट – भाषा)