EBM News Hindi

बरेली: चार्ज संभालते ही आरएफसी के तेवर देख अफसर घबराए

मंडल के चारों जिलों के डिप्टी आरएमओ से दो टूक कहा केंद्र पर सीधे किसानों से धान की खरीद हो, बिचौलिया या माफिया से साठगांठ मिलने पर केंद्र प्रभारी, एजेंसी प्रभारी के अलावा संबंधित जिले के डिप्टी आरएमओ पर भी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने डेलापीर, सीबीगंज स्थित क्रय केंद्रों का निरीक्षण भी किया। धान खरीद से संबंधित अभिलेख चेक किए। खामियां मिलने पर शीघ्र ही व्यवस्थाएं दुरुस्त करने को कहा। मंडी में धान लेकर पहुंचे किसानों से फीडबैक लिया।

इस दौरान आरएफसी ने आयोजित बैठक में चारों जिलों के डिप्टी आरएमओ से कहा एक अक्टूबर से शुरू हुई खरीद को एक महीने होने वाला है। इसके बाद भी मंडल के अधिकांश क्रय केंद्रों की तस्वीर नहीं बदल सकी है। केंद्र पर खरीद नहीं होने से किसान परेशान है। उन्होंने खरीद शुरू न होने वाले केंद्रों पर तुरंत खरीद शुरू करने को कहा। नमी की आड़ में किसानों को लौटने वाले केंद्र प्रभारियों पर सख्ती कार्रवाई करने की बात कही।

स्पष्ट कहा कि किसानों का धान प्राथमिकता से खरीदा जाए। अगर किसी किसान की शिकायत मिलती है तो संबंधित केंद्र प्रभारी के साथ उस जिले के डिप्टी आरएमओ पर भी कार्रवाई की जाएगी। बैठक में खरीद से जुड़ी एजेंसियों के जिला प्रभारियों ने भी अव्यवस्थाओं को लेकर शिकायत की। कहा अब तक खरीद से जुड़े उपकरण नहीं मिलने की वजह से कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस पर उन्होंने मंडी उपनिदेशक को फोन कर तत्काल सभी व्यवस्थाएं पूरी कराने के निर्देश दिए।

किसानों की सहूलियत को बढ़ेंगे क्रय केंद्र
बैठक के बाद आरएफसी ने धान खरीद की वास्तविक्ता देखने को मंडियों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने डेलापीर मंडी में दो से तीन क्रय केंद्र शिफ्ट किये जाने की बात कही। इसके अलावा नरियावल, बहेड़ी, सीबीगंगज और नवाबगंज की मंडियों में भी जरूरत के अनुसार केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

इस दौरान आरएफसी ने आयोजित बैठक में चारों जिलों के डिप्टी आरएमओ से कहा एक अक्टूबर से शुरू हुई खरीद को एक महीने होने वाला है। इसके बाद भी मंडल के अधिकांश क्रय केंद्रों की तस्वीर नहीं बदल सकी है। केंद्र पर खरीद नहीं होने से किसान परेशान है। उन्होंने खरीद शुरू न होने वाले केंद्रों पर तुरंत खरीद शुरू करने को कहा। नमी की आड़ में किसानों को लौटने वाले केंद्र प्रभारियों पर सख्ती कार्रवाई करने की बात कही।

स्पष्ट कहा कि किसानों का धान प्राथमिकता से खरीदा जाए। अगर किसी किसान की शिकायत मिलती है तो संबंधित केंद्र प्रभारी के साथ उस जिले के डिप्टी आरएमओ पर भी कार्रवाई की जाएगी। बैठक में खरीद से जुड़ी एजेंसियों के जिला प्रभारियों ने भी अव्यवस्थाओं को लेकर शिकायत की। कहा अब तक खरीद से जुड़े उपकरण नहीं मिलने की वजह से कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस पर उन्होंने मंडी उपनिदेशक को फोन कर तत्काल सभी व्यवस्थाएं पूरी कराने के निर्देश दिए।

किसानों की सहूलियत को बढ़ेंगे क्रय केंद्र
बैठक के बाद आरएफसी ने धान खरीद की वास्तविक्ता देखने को मंडियों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने डेलापीर मंडी में दो से तीन क्रय केंद्र शिफ्ट किये जाने की बात कही। इसके अलावा नरियावल, बहेड़ी, सीबीगंगज और नवाबगंज की मंडियों में भी जरूरत के अनुसार केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

एक बार फिरशुरू हो गए हैं धान खरीद में माफिया, बिचौलियों और आढ़तियों का गठजोड़ तोड़ने के प्रयास  क्षेत्रीय खाद्य नियंत्रक (आरएफसी) का अतिरिक्त चार्ज मिलते ही शुक्रवार को बीडीए उपाध्यक्ष जोगिंदर सिंह एक्शन मोड में दिखे। उन्होंने मंडलीय अधिकारियों के साथ धान खरीद को लेकर समीक्षा बैठक की।

रिपोर्टर रामू सिंह ठाकुर