EBM News Hindi

बरेली: डोमेस्टिक ब्रीडिंग चेकर्स तैनात डेंगू के डंक पर स्वास्थ

 

डेंगू की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग ने इसबार डोमेस्टिक ब्रीडिंग चेकर्स तैनात किए हैं  जिले में डेंगू को लेकर विभाग सतर्क हो गया है।  जो घर-घर जाकर डेंगू के लार्वा और जल भराव को खत्म कर रहे हैं। साथ ही इस बीमारी के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

जिला मलेरिया अधिकारी डी आर सिंह ने बताया कि जिले में 62 डोमेस्टिक ब्रीडिंग चेकर्स नगर निगम और नगर पंचायत क्षेत्रों में तैनात किए गए हैं। 2019 -20 में बरेली में करीब 264 लोग डेंगू से प्रभावित हुए थे। जनपद के सुभाष नगर, सीबीगंज, मीरगंज, धौरा टांडा, बहेड़ी आदि क्षेत्रों से अधिकांश लोग डेंगू के चपेट में आए थे। इन क्षेत्रों में डोमेस्टिक ब्रीडिंग चेकर्स एवं दस्तक अभियान के दौरान आशा कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर अभियान चलाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि डेंगू मादा एडीजइजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। डेंगू तीन प्रकार का होता है। क्लासिकल (साधारण) डेंगू बुखार, डेंगू हैमरेजिक बुखार (डीएचएफ), डेंगू शॉक सिंड्रोम (डीएसएस)। इसके बचाव के लिए बुखार आने पर तत्काल डॉक्टर से परामर्श लें। यह मच्छर दिन में, खासकर सुबह काटते हैं। डेंगू बरसात के मौसम और उसके बाद के महीनों में सबसे ज्यादा फैलता है एडीजइजिप्टी मच्छर बहुत ऊंचाई तक नहीं उड़ पाता है। यह मच्छर अक्सर दिन में और शरीर के खास हिस्से एड़ी और कोहनी में काटते हैं।

लक्षण
-ठंड लगने के बाद अचानक तेज बुखार चढ़ना
-सिर, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होना
-आंखों के पिछले हिस्से में दर्द होना, जो आंखों को दबाने या हिलाने से और बढ़ जाता है
-बहुत ज्यादा कमजोरी लगना, भूख न लगना और जी मितलाना और मुंह का स्वाद खराब होना
-गले में हल्का-सा दर्द होना या मसूड़ों में खून आना
शरीर खासकर चेहरे, गर्दन और छाती पर लाल-गुलाबी रंग के रैशेज होना

क्या करें
मच्छर से बचाव और समय पर इलाज से स्थिति सुधर सकती है
घर या ऑफिस के आसपास साफ पानी भी जमा न होने दें
अगर पानी जमा होने से रोकना मुमकिन नहीं है तो वहां केरोसिन ऑयल डालें
फ्रिज की डिफ़्रास ट्रे, कूलर, फूलदान का पानी हफ्ते में एक बार और पक्षियों को पानी देने के बर्तन को रोज पूरी तरह से खाली करें
घर में टूटे-फूटे डिब्बे, टायर, बर्तन, बोतलें आदि न रखें। अगर रखें तो उलटा करके रखें
डेंगू के मच्छर साफ पानी में पनपते हैं, इसलिए पानी की टंकी बंद रखें

सोते समय मच्छरदानी लगाएं

रिपोर्टर रामू सिंह ठाकुर