EBM News Hindi

बरेली: मेडिकल टेक्नीशियन की सूझबूझ से कराया एंबुलेंस में प्रसव

सरकारी एम्बुलेंस इस समय लोगो के लिए वरदान साबित हो रही है। न सिर्फ कोविड पॉजिटिव मरीजों को सकुशल निकटतम हॉस्पिटल में भर्ती कराने में अहम भूमिका निभा रही है बल्कि प्रसूताओं के लिए भी संजीवनी साबित हो रही है। रविवार को फिर एक एम्बुलेंस को ही लेबर रूम बनाकर सुरक्षित डिलीवरी कराई गई। जच्चा-बच्चा को प्राथमिक उपचार देते हुए हॉस्पिटल में भर्ती कराकर अपने कर्म को बखूबी ये योद्धा अंजाम दे रहे हैं।

थाना बिथरी चैनपुर क्षेत्र के ग्राम भंडसर के रहने वाले रामचंद्र की पत्नी प्रीती (28) को प्रसव पीड़ा होने लगी। आशा रजनी ने 102 पर कॉल करके एम्बुलेंस बुलाई। सूचना मिलते ही बिथरी चैनपुर की एम्बुलेंस यूपी 41जी 2505 मरीज को लेकर बिथरी चैनपुर अस्पताल ले जाने लगी। बिथरी से कुछ दूरी पहले ही महिला को तेज दर्द होने लगा। पायलट किशनपाल ने एम्बुलेंस को सड़क के किनारे रोक दिया।

एमटी अनिल कुमार ने आशा की मदद से सुरक्षित प्रसव कराया। महिला ने स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया। बाद ने अनिल कुमार ने नवजात बच्ची को सक्शन करके एब्नार्मल कार्ड लगाकर ब्लेड से नाड़ को काटकर अलग किया। बाद में पायलट ने महिला को बिथरी चैनपुर अस्पताल में भर्ती कराया। एम्बुलेंस में बच्ची की किलकारी से परिवार में खुशियों की लहर दौड़ गयी। एम्बुलेंस जिला प्रभारी हिम्मत चंद्र ने बताया कि अक्टूबर माह में ये तीसरा मौका है जब एमटी अनिल कुमार द्वारा सुरक्षित प्रसव कराकर निकटतम अस्पताल में जच्चा-बच्चा को भर्ती कराया गया है।

रिपोर्टर रामू सिंह ठाकुर