EBM News Hindi

कसाब को फांसी के फंदे तक पहुंचाने वाले वकील उज्जवल निकम बाल-बाल बचे

पुणे: प्रसिद्ध वकील उज्ज्वल निकम एक सड़क दुर्घटना में बाल-बाल बच गए. उनकी कार को पीछे से पुलिस के एक वाहन ने खंडाला घाट इलाके में पुणे- मुंबई एक्सप्रेसवे पर टक्कर मार दी. हालांकि पुलिस के गश्ती वाहन में सवार दो पुलिसकर्मियों को हल्की चोटें आई. यह घटना रात आठ बजे हुई. निकम मुंबई आ रहे थे. रायगड के एक पुलिस अधिकारी के अनुसार पुलिस के गश्ती वाहन ने निकम की कार को पीछे से टक्कर मार दी. यह घटना तब हुई जब निकम के कार के चालक ने वाहन की गति को घाट की तरफ हुए एक अन्य दुर्घटना को देखते हुए कर दी थी. इस घटना में दो पुलिसकर्मियों को हल्की चोटें आई.

अधिकारी ने बताया, ‘निकम सुरक्षित बच गए.’ उन्होंने बताया कि संबंधित अधिकारियों को अस्पताल ले जाया गया जबकि निकम मुंबई रवाना हो गए. निकम विशेष सरकारी वकील हैं. उन्होंने कई बड़े आतंकवादी मामलों को अपने हाथों में लिया है.

इस वजह से फेमस हुए उज्जवल निकम
-उज्ज्वल निकम देश के सबसे मशहूर सरकारी वकीलों में से हैं और आतंकी अजमल कसाब को फांसी दिलवाने में भी उनकी अहम भूमिका है. कसाब मुंबई में 26 नवंबर, 2008 को हुए आतंकी हमले का मुख्य आरोपी था.

-आतंकी अजमल कसाब को फांसी दिलवाने से लेकर, 1993 के बम धमाकों, गुलशन कुमार हत्याकांड और प्रमोद महाजन हत्याकांड जैसे हाई प्रोफाइल मामलों में सरकारी पक्ष की पैरवी कर चुके हैं.

-12 अगस्त 1997 में मुंबई के अंधेरी स्थित जीतेश्वर महादेव के मंदिर में पूजा के लिए गए गुलशन कुमार की हत्या कर दी गई थी, तब निकम ने ही केस की पैरवी की थी.