EBM News Hindi

4 जून से शुक्र की बदलेगी चाल, इन लोगों पर होगी धनवर्षा

नई दिल्ली। शुक्र को प्रेम, सौंदर्य, आकर्षण, दांपत्य सुख, यौन सुख का प्रतिनिधि ग्रह माना गया है। जन्मकुंडली में शुक्र की स्थिति शुभ हो तो जातक प्रेम के मामले में लकी होता है। साथ ही वह भौतिक सुख-सुविधाओं और लग्जरी लाइफ का भोग करता है। लेकिन यदि कुंडली में शुक्र खराब है तो जातक अनैतिक कार्यों में उलझा रहता है। उसे सांसारिक सुख प्राप्त नहीं हो पाते हैं। गोचर में शुक्र का विभिन्न् राशियों में गोचर भी बहुत मायने रखता है।4 जून को शुक्र वृषभ राशि में करेगा गोचर
शुक्र 4 जून 2019 मंगलवार को सुबह 11.34 बजे मेष राशि से निकलकर अपनी स्वयं की राशि वृषभ में प्रवेश करने जा रहा है। अपनी राशि में आकर शुक्र प्रबल हो जाएगा। ऐसे में वह सभी राशि के जातकों को उनके गोचर के हिसाब से फल प्रदान करेगा। वैसे देखा जाए तो शुक्र का वृषभ राशि में गोचर लगभग सभी राशि वालों के लिए शुभ साबित होने वाला है। शुक्र वृषभ राशि में 29 जून 2019 को दोपहर 1.47 बजे तक रहेगा।शुक्र का गोचर इन लोगों के लिए अच्छा होगा मेष : मेष राशि के लिए शुक्र 4 जून से द्वितीय भाव में गोचर करेगा। यह स्थान धन-संपत्ति, वाणी, परिजन का स्थान होता है। शुक्र के इस गोचर से मेष राशि वालों के परिवार में कोई मांगलिक कार्य हो सकता है। इस दौरान आपकी वाणी में ओजस्विता आने के कारण आप दूसरों पर अपना प्रभाव जमाने में कामयाब होंगे। प्रेम संबंध के लिहाज से 25 दिन का समय अच्छा रहेगा। आर्थिक स्थिति पहले से मजबूत होगी। नया कार्य-व्यवसाय प्रारंभ करेंगे। उपाय : शुक्रवार के दिन भगवान शिव का दही से अभिषेक करें। वृषभ : शुक्र ग्रह इसी राशि में प्रवेश करने जा रहा है। यह कुंडली का पहला स्थान होता है अत: शारीरिक रूप से आप मजबूत रहेंगे। आपके सौंदर्य और आकर्षण प्रभाव में वृद्धि होने वाली है। आपके व्यक्तित्व में ऐसा चुंबकीय आकर्षण पैदा हो जाएगा कि हर कोई आपसे मिलने को उत्सुक रहेगा। भौतिक सुख-सुविधाओं की कमी नहीं रहेगी। इस दौरान आपकी यौन इच्छाएं प्रबल रहेंगी। आप किसी को अपना बनाना चाहेंगे। नए प्रेम संबंध मिलेंगे। उपाय : इस राशि के जातक शुक्र का पूर्ण प्रभाव प्राप्त करने के लिए गले में चांदी का पेंडेट पहनें। मिथुन : मिथुन राशि के लिए शुक्र का गोचर द्वादश स्थान में होगा। इस स्थान से खर्च, हानि आदि का पता लगाया जाता है। विदेश यात्राएं भी इसी स्थान से पता की जाती है। शुक्र के गोचर के प्रभाव से मिथुन राशि के युवाओं को विदेश यात्रा का मौका मिल सकता है, लेकिन आर्थिक रूप से सतर्क रहना होगा। ध्यान रहे कहीं भी निवेश करते समय सावधानी रखें। किसी व्यक्ति पर अचानक पैसों का भरोसा ना करें। लग्जरी चीजों पर खर्च करेंगे। वाहन खरीदने का मौका आएगा।
आय में वृद्धि कर्क : कर्क राशि के लिए शुक्र का गोचर एकादश भाव में होगा। यह आय स्थान होता है। शुक्र गोचर के फलस्वरूप कर्क राशि वालों की आय में वृद्धि होगी। डेयरी प्रोडक्ट से जुड़ा कोई काम शुरू करें खूब लाभ होगा। आपका वैवाहिक जीवन सुखद होगा। पत्नी से संबंध सुधरेंगे। अविवाहितों को प्रेम संबंध मिल सकते हैं। आय के एक से अधिक स्रोत प्राप्त होंगे। शेयर बाजार से लाभ कमा सकते हैं। रूके हुए धन की प्राप्ति होगी। उपाय : शुक्रवार के दिन 7 कन्याओं को मिश्री और मखाने से बनी खीर खिलाएं। सिंह : सिंह राशि के लिए शुक्र का गोचर दशम भाव में होगा। दशम स्थान केंद्र स्थान होता है और इससे कार्य-व्यवसाय, नौकरी आदि के बारे में पता लगता है। शुक्र गोचर के 25 दिन उन लोगों के लिए शुभ संकेत हैं जो जॉब की तलाश में हैं। इस दौरान कोई स्टार्टअप शुरू कर सकते हैं। बिजनेस में लाभ की स्थिति बनेगी। विदेशी व्यापार से पैसा कमाएंगे। भौतिक सुख-साधनों पर खर्च करेंगे। सिंह राशि के जातक महिलाओं के बीच में फेमस होंगे। पुराने रोग दूर होंगे। उपाय : शुक्रवार के दिन शिवलिंग का शहद से अभिषेक करें। कन्या : शुक्र आपकी राशि से नवम भाव में गोचर करेगा। यह भाग्य भाव होता है। शुक्र के गोचर के दौरान कन्या राशि के जातक किसी धार्मिक यात्रा पर जा सकते हैं। घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान बढ़ेगा। आपके निर्णयों को सराहा जाएगा। प्रबल धन-संपत्ति, पैसा प्राप्त होने के योग बन रहे हैं। प्रेम संबंधों के लिए समय बहुत अनुकूल है। इस राशि के जातकों को कोई नया प्रेम संबंध मिल सकता है। जीवनसाथी के प्रति लगाव बढ़ेगा। उपाय : मां लक्ष्मी को प्रतिदिन गुलाब का पुष्प अर्पित करें।