EBM News Hindi

हिलेरी की पूर्व प्रमुख सलाहकार भारतीय मूल की नीरा को बाइडन सरकार में मिल सकती है बड़ी जिम्‍मेदारी

वाशिंगटन । जनवरी 2021 में अमेरिका के निर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बाइडन पद और गोपनीयता की शपथ लेंगे। पूरी दुनिया की निगाहें उनपर और उनके मंत्रिमंडल पर लगी हुई है। भारत के लिए ये इसलिए भी खास है क्‍योंकि इसमें भारतीयों को अहम जिम्‍मेदारी मिल रही है। पहली बार कोई भारतीय मूल की महिला दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति की उपराष्‍ट्रपति बनने वाली है। बाइडन के मंत्रिमंडल में भारतीय मूल की केवल वही नहीं है बल्कि नीरा टंडन भी इसका एक अहम हिस्‍सा बनने वाली हैं। आपको बता दें कि नीरा को वर्ष 2012 में नेशनल जर्नल ने वाशिंगटन की 25 सबसे ताकतवर महिलाओं में शामिल किया था। इसके अलावा वर्ष 2014 में द वर्किंग वूमेन मैग्‍जीन ने विश्‍व की 50 सबसे ताकतवर मां के तौर पर शामिल किया था। इसी साल वो Elle मैग्‍जीन द्वारा वाशिंगटन की दस सबसे ताकतवर महिलाओं में भी चुनी गई थीं।

नीरा ओबामा प्रशासन में एक सलाहकार की भूमिका निभा चुकी हैं। माना जा रहा है कि बाइडन उन्‍हें नई जिम्‍मेदारी के तौर पर डायरेक्‍टर ऑफ द व्‍हाइट हाउस बजट ऑफिस की भूमिका देने वाले हैं। वहीं सेसिला राउज का नाम काउंसिल ऑफ इकनॉमिक एडवाइजर के प्रमुख के तौर पर सामने आ रहा है। हालांकि इनके नामों पर सीनेट की मुहर लगनी जरूरी होगी। नीरा फिलहाल सेंटर फॉर अमेरिकन प्रोग्रेस की प्रमुख हैं। ये एक लिबरल थिंक टैंक है। इस पद पर वो वर्ष 2011 से काबिज हैं। वैसे इस संस्‍था से वो 2003 से जुड़ी हुई हैं। इससे पहले वे ओबामा प्रशासन में स्‍वास्‍थ्‍य सलाहकार भी रह चुकी है। उन्‍होंने 2016 के अमेरिकी चुनाव में डेमोक्रेट पार्टी की उम्‍मीद्वार हिलेरी क्लिंटन के सलाहकार की अहम भूमिका निभाई थी। हिलेरी की प्रचार टीम के ट्रांजिशन प्रोजेक्‍ट की सह प्रमुख के तौर पर उनका काम जीत की सूरत में सत्‍ता के ट्रांसफर से जुड़ा था।