EBM News Hindi

हाईप्रोफाइल हनीट्रैप मामला, पूर्व मंत्री और IAS अधिकारियों से रिश्ते, इस तरह बनाया आपत्तिजनक वीडियो

0

इंदौर, जेएनएन। इंदौर नगर निगम के इंजीनियर को हनीट्रैप में फंसाकर तीन करोड़ रुपये की मांग करने से जुड़ी चार महिलाओं को एटीएस टीम ने भोपाल में हिरासत लिया। पूछताछ में महिलाओं ने पूर्व मंत्री सहित तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को भी इसी तरह शिकार बनाना कबूला है। गिरफ्तार एनजीओ संचालिका ने पूर्व मंत्री सहित तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों का आपत्तिजनक वीडियो बना लिया था। वह सरकारी विभागों में सेंध लगाकर लाखों रुपये का अनुदान और ठेके लेती थी। पुलिस ने लैपटॉप, मोबाइल, डिवाइस, कारें और 14 लाख रुपये नकद जब्त किए हैं। फिलहाल पुलिस इंजीनियर से तीन करोड़ रुपये की मांग करने के आरोप में पूछताछ कर रही है।

इंदौर नगर निगम के इंजीनियर को हनीट्रैप में फंसाकर तीन करोड़ रुपये की मांग करने के मामले में पकड़ी गई महिलाओं ने पूछताछ में पूर्व मंत्री सहित तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को भी इसी तरह शिकार बनाना कबूला है। गिरफ्तार एनजीओ संचालिका ने पूर्व मंत्री सहित तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों का आपत्तिजनक वीडियो बना लिया था। वह सरकारी विभागों में सेंध लगाकर लाखों रुपये का अनुदान और ठेके लेती थी। पुलिस ने लैपटॉप, मोबाइल, डिवाइस, कारें और 14 लाख रुपये नकद जब्त किए हैं। फिलहाल पुलिस इंजीनियर से तीन करोड़ रुपये की मांग करने के आरोप में पूछताछ कर रही है।

एसएसपी रचि वर्धन मिश्र के अनुसार, पुलिस ने आरती (29) पंकज दयाल निवासी मिनाल रेसीडेंसी भोपाल, मोनिका (18) लाल यादव निवासी सवस्या नरसिंहगढ़, श्वेता (39) पति विजय जैन निवासी मिनाल रेसिडेंसी भोपाल, श्वेता(48) पति स्वप्निल जैन निवासी रेवेरा टाउनशिप भोपाल, बरखा (34) पति अमित सोनी भटनागर निवासी कोटरा सुल्तानाबाद भोपाल और ओमप्रकाश पिता रामहर्ष कोरी निवासी आदमपुर छावनी भोपाल है। आरोपित गुलमर्ग वैली गुलमोहर कॉलोनी निवासी 60 वर्षीय हरभजनसिंह पिता स्व. सरदार बख्तावर सिंह से तीन करोड़ की मांग कर ब्लैकमेल कर रही थी। गिरोह की मास्टर माइंड मूलत: सागर की रहने वाली श्वेता जैन है। उसका भोपाल में कारखाना है और पति प्रॉपर्टी ब्रोकर है। श्वेता एनजीओ भी चलाती है। इसी कारण उसकी अधिकारियों और नेताओं से भी नजदीकी है।