EBM News Hindi

‘स्टार मंत्री’ रहे राठौड़ को लेकर मोदी की है ये प्लानिंग, इसलिए इस बार नहीं दिया मंत्री पद

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में प्रचंड जनादेश हासिल करने के बाद गुरुवार को नरेंद्र मोदी ने दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा उनके मंत्रिमंडल के 57 मंत्रियों ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली। राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 24 कैबिनेट मंत्रियों, 9 राज्य मंत्रियों (स्वतंत्र प्रभार) और 24 राज्य मंत्रियों को शपथ दिलाई। मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में जहां कुछ नए चेहरों को शामिल किया गया, वहीं कई पुराने मंत्रियों को कैबिनेट में जगह नहीं मिली। इनमें एक नाम पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ का भी है, जिन्हें इस बार मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया है। हालांकि राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को मोदी के नए मंत्रिमंडल में शामिल ना करने के पीछे एक बड़ी वजह निकलकर सामने आ रही है।
गुरुवार को जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ ले रहे थे तो उनके साथ शपथ लेने वाले मंत्रियों में पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ शामिल नहीं थे। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ की गिनती मोदी सरकार के पहले मंत्रिमंडल में एक स्टार मंत्री के तौर पर की जाती रही है। हालांकि इस बार उन्हें मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई है। इसके पीछे एक बड़ी वजह है। सियासी गलियारों में चर्चा है कि राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को राजस्थान भाजपा में एक बड़ी जिम्मेदारी देने की तैयारी की जा रही है। दरअसल, राजस्थान में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के हाथों मिली हार के बाद भाजपा प्रदेश संगठन में एक मजबूत नेतृत्व की तलाश में है। माना जा रहा है कि राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को राजस्थान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी जा सकती है।
गौरतलब है कि वर्तमान में राजस्थान भाजपा की कमान मदन लाल सैनी के हाथों में हैं, जो खास बड़ा चेहरा नहीं हैं। पार्टी का शीर्ष नेतृत्व पहले चाहता था कि प्रदेश भाजपा की कमान गजेंद्र सिंह शेखावत को मिले, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे समेत कई नेताओं के विरोध के चलते उन्हें यह जिम्मेदारी नहीं दी गई। अब भाजपा प्रदेश के संगठन में एक बड़ा बदलाव करने की तैयारी में है, जिसके तहत राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को राजस्थान भाजपा का अध्यक्ष बनाया जा सकता है। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ राजस्थान की जयपुर ग्रामीण सीट से सांसद हैं। राठौड़ ने जयपुर ग्रामीण सीट से कांग्रेस की उम्मीदवार कृष्णा पूनिया को 389403 वोटों के अंतर से हराकर जीत हासिल की है। राठौड़ को 811626 और कृष्णा पूनिया को 422223 वोट मिले थे।
मोदी कैबिनेट के शपथ ग्रहण के बाद शुक्रवार को राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल के सदस्य के रूप में काम करना मेरे लिए एक बहुत ही सौभाग्य और सम्मान की बात है। उनके साथ बिताया गया हर एक पल, उनकी दृष्टि, ऊर्जा और हमारे महान राष्ट्र के प्रति प्रतिबद्धता का प्रमाण था। प्रधानमंत्री मोदी को मेरा आभार। जय हिन्द।’ इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा, ‘पिछले 5 साल के कार्यकाल में कई उतार-चढ़ाव के साथ बहुत कुछ सीखने को मिला और मुझे अरुण जेटली, एम वेंकैया नायडू और स्मृति ईरानी के साथ देश की सेवा करने का सौभाग्य और सम्मान भी मिला। इसके लिए मैं उनके प्रति भी आभार प्रकट करता हूं।’