EBM News Hindi

सुषमा स्वराज की राह पर एस जयशंकर, ट्विटर पर लगाई गुहार तो ऐसी पहुंचाई मदद

नई दिल्ली। पिछली मोदी सरकार में सुषमा स्वराज देश की विदेश मंत्री थी और वह सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा सक्रिय थी। सोशल मीडिया पर जब भी उनसे मदद की गुहार लगाई जाती थी तो वह सामने आकर मदद की पेशकश करती थीं। उन्ही के नक्शेकदम पर आगे चलते हुए देश के नए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति की मदद की गुहार के बाद अपनी प्रतिक्रिया दी है। दरअसल रियाद में फंसे एक भारतीय नागरिक मानिक चटोपाध्याय ने विदेश मंत्री से मदद की गुहार लगाई थी। उसने ट्विटर पर एक वीडियो साझा किया था जिसमे उसने रोते हुए कहा कि मुझे भारत वापस जाना है, मैं यहां फंस गया हूं, मेरी कोई मदद नहीं कर रहा है, प्लीज मेरी मदद कीजिए, नहीं तो मैं मर जाउंगा।

पीड़ित की अपील के बाद रियाद स्थित भारतीय भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने उसकी मदद की। जिस तरह से पीड़ित की भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने मदद की उसकी एस जयशंकर ने तारीफ की है। पीड़ित मानिक ने एक साथ कई ट्वीट करके मदद की गुहार लगाई थी। सबसे पहले 12 मई को मानिक ने ट्वीट करके लिखा कि उसे भारत वापस आने के लिए मदद चाहिए। दो दिन के बाद उसने अपना मोबाइल नंबर साझा किया और लिखा कि अगर वह सऊदी अरब से बाहर नहीं निकलता है तो उसके पास आत्महत्या के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा।

ट्वीट करके मांगी थी मदद

जिसके बाद मानिक ने एक वीडियो भी साझा किया है, जिसमे वह रोते हुए मदद की गुहार लगाता है। इस वीडियो में वह कहता है कि वह जेद्दा एक इंटरव्यू देने के लिए आया था, जहां उससे कहा गया था कि उसे खाने के लिए शाकाहारी खाना मिलेगा। रेस्टोरेंट ने भी इस बात का आश्वासन दिया था कि उसे चिकन खाने को दिया जाएगा, लेकिन बाद में उसे बीफ खाने को दिया जाने लगा। पीड़ित का कहना है कि वह हिंदू और इस वजह से वह खाना नहीं खा पा रहा है।

जयशंकर ने की तारीफ

शनिवार को रियाद स्थिति भारतीय दूतावास के डेप्युटी चीफ ऑफ मिशन डॉक्टर सुहेल एजाज खान ने मानिक के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा कि वह अपनी जानकारी को साझा करे। जिसके बाद भारतीय दूतावास के अधिकारी के इस ट्वीट की एस जयशंकर ने तारीफ की और लिखा कि उन्हें इस मामले की जानकारी देते रहे। बता दें कि एस जयशंकर विदेश मंत्री बनने से पहले वरिष्ठ डिप्लोमैट थे। वह देश के पहले ऐसे डिप्लोमैट हैं जिन्हें देश का विदेश मंत्री बनाया गया है।