EBM News Hindi

सीवर में एक एक कर पांच मज़दूर उतरे और फिर ज़िंदा नहीं लौटेः ग्राउंड रिपोर्ट

0

विजय राय, शिवकुमार राय, दामोदर, होरिल साद, संजीत साद

ये वो पांच नाम हैं जो सीवर के अंधेरे में हमेशा के लिए खो गए.

स्थानीय लोगों के लिए ये चेहरे अंजान थे. किसी को पता भी नहीं था कि ये आख़िर रहते कहां थे.

इन सभी का परिवार हज़ारों किलोमीटर दूर बिहार के समस्तीपुर में रहता है, इसलिए दुर्घटना के डेढ़ दिन बाद भी ग़ाज़ियाबाद के पोस्टमार्टम हाउस के बाहर सिर्फ़ दो लोगों के रिश्तेदार पहुंच पाए थे.एक दिन पहले गुरुवार को ग़ाज़ियाबाद के नंदग्राम के कृष्ण कुंज इलाक़े में हादसा हुआ जहां ये पांच मज़दूर एक नई सीवर लाइन में घुटकर मर गए.