EBM News Hindi

श्रीलंका में ईस्टर पर हुए आतंकी हमले की पहले से जानकारी नहीं थी- राष्ट्रपति

नई दिल्ली। श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला श्रीसेना ने ईस्टर पर श्रीलंका में हुए बम धमाकों को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने इस बात से साफ इनकार किया है कि ईस्टर पर होने वाले बम धमाके की उन्हें पहले से जानकारी थी। कोलंबो पेज ने राष्ट्रपति के मीडिया डिवीजन का बयान छापते हुए लिखा है कि 8 अप्रैल को राष्ट्रपति ने इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ साथ बैठक की थी। यह बैठक तकरीबन दो घंटे तक चली थी, लेकिन किसी भी पुलिस अधिकारी ने इस बात की जानकारी नहीं दी कि राष्ट्रपति को ईस्टर पर होने वाले बम धमाके की पहले से जानकारी थी।

बता दें कि 21 अप्रैल को ईस्टर पर श्रीलंका में आतंकी हमला हुआ था, कई जगहों पर बम धमाकों की वजह से 250 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। यह बम थमाके बड़े होटल और तीन चर्च में किए गए थे। श्रीलंका में यह अबतक का सबसे बड़ा आतंकी हमला था। राष्ट्रपति की ओर से कहा गया है कि उन्हें इस संभावित हमले की कोई जानकारी नहीं थी। साथ ही ना तो रक्षा सचिव, इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस या किसी अन्य पुलिस अधिकारी ने राष्ट्रपति को इस बाबत जानकारी नहीं दी थी।

यह बयान ऐसे समय आया है जब रक्षा सचिव जनरल शांता कोट्टेगोड़ा और खुफिया विभाग के मुखिया सिसिरा मेंडिस ने गुरुवार को श्रीलंका की पार्लियामेंट सेलेक्ट कमेटी को इस हमले के सबूत सौंपे। इस कमेटी को ईस्टर पर हुए हमले की जांच के लिए गठित किया गया था, जिसने पहली बार संसद में अपनी रिपोर्ट पेश की है। बैठक के दौरान रक्षा सचिव ने कहा कि कुछ खुफिया विभाग के अधिकारियों की गिरफ्तारी से पूरे देश का खुफिया तंत्र कमजोर नहीं हुआ है। कोट्टेगोड़ा ने बताया कि आतंकी हमले की पहली रिपोर्ट 2014 में प्राप्त हुई थी, ऐसे में अगर उसपर कार्रवाई की गई होती तो 21 अप्रैल की घटना को टाला जा सकता था।