EBM News Hindi

श्रीलंका: मुसलमानों की दुकान से सामान नहीं ले रहे लोग

0

कुछ महीने पहले, श्रीलंका की राजधानी कोलंबो से 90 किलोमीटर दूर कोट्टरमुल्ला गाँव में मोहम्मद इलियास घरों की मरम्मत करने वाला सामान बेचा करते थे.

श्रीलंका के बहुसंख्यक सिंहली समाज के बीच सालों से दुकान चलाने वाले इलियास अपनी हार्डवेयर की दुकान से पर्याप्त कमाई कर लेते थे.

लेकिन बीते कुछ दिनों से उनकी ज़िंदगी बदल गई है. दुकान अब पहले जैसी नहीं चलती है. उनकी दुकान पर लोगों का आना कम हो गया है.

इस बदलाव की शुरुआत उस दिन हुई जब श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में सिलसिलेवार धमाकों में कई लोगों की मौत हुई थी.

हमले के बाद के दिनों को याद करते हुए इलियास बताते हैं, “जब से बम धमाके हुए हैं तब से मेरे 90 प्रतिशत सिंहली ग्राहकों ने दुकान पर आना बंद कर दिया है. मेरा काम-धंधा पूरी तरह से ठप हो गया है. लाखों रुपए का नुक़सान हो गया है.”

छोटे चरमपंथी समूहों ने बड़े होटलों और चर्चों को टारगेट बनाकर कई लोगों की हत्या की थी.

हालांकि इस्लामिक स्टेट ने इन हमलों की ज़िम्मेदारी ली थी. इन हमलों ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था.

इलियास कहते हैं, “कुछ ग्राहकों ने हाल ही में वापस आना शुरू किया है लेकिन ये काफ़ी नहीं हैं. अगर ऐसा ही चलता रहा तो मैं जल्द बड़ी परेशानी में आ जाऊंगा.”