EBM News Hindi

विकास भवन में कर्मचारी ही नहीं अधिकारी भी लेटलतीफ

आगरा, । आम आदमी की समस्याओं का समाधान समय से हो, उसके इधर से उधर भटकना न पड़े। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को सुबह नौ से 11 बजे तक कार्यालय में बैठने के निर्देश दिए है। बावजूद इसके कई अधिकारी सुबह दस बजे तक भी कार्यालय नहीं पहुंच पा रहे हैं। इसको लेकर जब विकास भवन की जागरण संवाददाता ने पड़ताल की गई तो इसका पर्दाफाश हुआ। पढि़ए रिपोर्ट .. केस 1.

सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंधक सहकारिता राजीव लोचन शर्मा सुबह साढ़े दस बजे तक कार्यालय नहीं पहुंचे। उनके कार्यालय के कई कर्मचारी भी अनुपस्थित रहे। केस 2.

 

जिला कृषि अधिकारी कार्यालय में भी साढ़े दस बजे तक सन्नाटा छाया रहा। हालांकि कर्मचारी जरूर समय से पहुंच गए थे। केस 3.

लघु सिंचाई कार्यालय में सवा दस बजे तक कोई भी कर्मचारी नहीं पहुंचा। 10.20 बजे से कर्मचारियों के आने का सिलसिला शुरू हुआ। सिर्फ एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी कार्यालय की सफाई करते हुए देखा गया। केस 4.

जिला प्रबंधक उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम लि. के पदेन जिला समाज कल्याण अधिकारी (विकास) की कुर्सी साढ़े दस बजे खाली थी। – साढ़े दस बजे हो रही थी सफाई

कार्यालय खुलने का समय सुबह नौ बजे है, लेकिन विकास भवन में सवा दस बजे सफाई कार्य चल रहा था। इससे खुद व खुद अंदाजा लगाया जा सकता है कि अधिकारी और कर्मचारी अपना कार्य कितने बजे शुरू करते होंगे। वर्जन

सभी अधिकारी और कर्मचारियों को निर्देश दिए गए है कि दस बजे कार्यालय पहुंचें। समय पर अधिकारी और कर्मचारी नहीं पहुंच रहे हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

जे. रीभा, मुख्य विकास अधिकारी