EBM News Hindi

लंदन में पाक समर्थित कश्मीर मार्च के खिलाफ जॉनसन, पीएम ने कहा-हिंसा इस देश में मंजूर नहीं

लंदन, प्रेट्र। दिवाली के दिन भारतीय उच्चायोग के बाहर कश्मीर मुद्दे को लेकर पाकिस्तान प्रायोजित प्रदर्शन को ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सिरे से नकार दिया है। उन्होंने कहा कि हिंसा और धमकी पूरी तरह से नामंजूर की जाती है।

हिंसा और धमकी इस देश में स्वीकार नहीं: प्रधानमंत्री

संसद में साप्ताहिक प्रश्नकाल के दौरान बुधवार को कंजरवेटिव पार्टी के सांसद बॉब ब्लैकमैन ने पाकिस्तान समर्थित समूहों की ओर से 15 अगस्त के समारोह में हिंसक प्रदर्शन होने का जिक्र करते हुए दोबारा ऐसी हिंसा को रोके जाने की मांग की। इसके जवाब में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जॉनसन ने कहा कि यह पुलिस का मामला है और इसे गृह मंत्री (प्रीति पटेल) देखेंगी। उन्होंने कहा कि यह हम सब को स्पष्ट हो जाना चाहिए कि हिंसा और धमकी इस देश में कहीं भी स्वीकार नहीं किया जाएगा।

सांसद ब्लैकमैन कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के पक्ष में 

उल्लेखनीय है कि सांसद ब्लैकमैन जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही लगातार भारत के पक्ष में बोल रहे हैं। उनके इस मत का समर्थन संसद में अन्य ब्रिटिश सांसदों ने भी किया। उत्तरी लंदन से सांसद ब्लैकमैन दरअसल ब्रिटिश हिंदुओं के सर्वदलीय संसदीय समूह के भी अध्यक्ष हैं।

सांसद ब्लैकमैन ने संसद में कहा- हम शांतिपूर्ण प्रदर्शन के पक्षधर हैं

उन्होंने विपक्षी दल लेबर पार्टी पर भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने का आरोप लगाया है। उन्होंने बुधवार को ब्रिटिश संसद में कहा कि इस सदन में हम शांतिपूर्ण प्रदर्शन के अधिकार का पक्ष लेते हैं। इसके बावजूद विगत 15 अगस्त को पाकिस्तान समर्थित संगठनों ने भारतीय उच्चायोग के सामने हिंसक प्रदर्शन किया था।

सांसद ब्लैकमैन ने भारतीय उच्चायोग के सामने फिर हिंसा रोकनेकी मांग की

रविवार को दिवाली पर भी करीब 10 हजार लोगों के भारतीय उच्चायोग के बाहर विरोध-प्रदर्शन करने का खतरा है। उन्होंने कहा दिवाली हिंदुओं, सिखों और जैनियों के लिए बेहद पवित्र दिन है। सरकार रविवार को हिंसक प्रदर्शन होने से रोकने के लिए क्या कदम उठा रही है। ब्लैकमैन ने लंदन के मेयर सादिक खान को भी पत्र लिखकर कथित ‘आजाद कश्मीर’ मार्च को रोकना सुनिश्चित करने को कहा है।