EBM News Hindi

रोहित शर्मा हैं पूरी तरह से फिट, बांग्लादेश के खिलाफ पहले मैच में करेंगे कप्तानी

नई दिल्ली, जेएनएन। Ind vs Ban: दिल्ली में वायु प्रदूषण की समस्या के बावजूद टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने अरुण जेटली स्टेडियम में जमकर अभ्यास किया। हालांकि इस अभ्यास के दौरान रोहित के पेट में बाईं तरफ चोट लग गई और वो अभ्यास सत्र से बाहर हो गए। वैसे रोहित इससे खुश नहीं दिखे। जिस तेज से जिस तेजी से थ्रोडाउन गेंद उनकी ओर आई थी, वह उससे खुश नहीं लग रहे थे। भारतीय टीम ने बायें हाथ के श्रीलंकाई थ्रोडाउन विशेषज्ञ नुआन को अभ्यास के लिए रखा है ताकि बल्लेबाज प्रतिद्वंद्वी टीम के बायें हाथ के तेज गेंदबाज मुस्तफिजुर रहमान का सामना अच्छी तरह कर सकें। बताया जा रहा है कि रोहित शर्मा पूरी तरह से फिट हैं और वो पहले मैच में हिस्सा लेंगे। इसकी जानकारी बीसीसीआइ की मेडिकल टीम ने दी।

आमतौर पर बल्लेबाज नेट में गेंदबाजों का सामना करने से पहले लय हासिल करने के लिए थ्रोडाउन पर बल्लेबाजी का अभ्यास करते हैं। वहीं अभ्यास के दौरान संजू सैमसन विकेटकीपिंग नहीं, बल्कि अन्य खिलाडि़यों के साथ फील्डिंग करते दिखे। दूसरी तरफ रिषभ पंत विकेटकीपिंग में अतिरिक्त समय देते दिखे। सभी की निगाहें मुंबई के ‘बिगहिटर’ ऑलराउंडर शिवम दुबे पर लगी थी जो मुख्य कोच रवि शास्त्री से बात करते देखे गए।

भारतीय टीम के खिलाड़ी और कोच अरुण जेटली स्टेडियम की पिच से प्रभावित नजर आए। भारतीय टीम प्रबंधन और खिलाडि़यों ने पिच देखी और क्यूरेटर अंकित दत्ता के काम से खुश नजर आए। हालांकि यहां के मैदानकर्मियों और क्यूरेटर के सामने एक प्रश्न यह है कि दूधिया रोशनी में प्रदूषण की स्थिति में यह पिच किस तरह बिहेव करेगी यह देखना होगा।

डीडीसीए के एक मैदानकर्मी ने बताया कि हम हमेशा मैच से दो दिन पहले यह चेक करते हैं। शुक्रवार और रविवार की रात हम यह देखेंगे कि ओस का यह फर्क पड़ रहा है। यही नहीं हम यह भी चेक करेंगे कि दूधिया रोशनी और प्रदूषण के संगम के बाद बल्लेबाजों के लिए इस पिच पर तेज गेंद का सामना करना कितना मुश्किल होगा। जहां तक पिच की बात है तो हमने इसे शुद्ध टी-20 पिच की तरह बनाया है।

इससे पहले, हालांकि जेटली स्टेडियम की पिच खराब कारणों से चर्चा में रहती थी। गेंद बल्ले पर सही तरीके से नहीं आती थी और खिलाडि़यों को खुलकर शॉट खेलने में दिक्कत होती थी। वहीं टीम प्रबंधन के एक सदस्य ने कहा कि टी-20 विकेटों पर ढेरों रन बनने चाहिए और जेटली स्टेडियम की पिच काफी अच्छी दिख रही है। पिच में ताजगी है और कोच रवि शास्त्री तथा पूरी टीम इससे प्रभावित नजर आई।