EBM News Hindi

यूपी में बीजेपी की जीत का ‘चाणक्य’ अमित शाह नहीं बल्कि ये शख्स है

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में बीजेपी ने जीत हैट्रिक लगाई है। दूसरी बार बीजेपी देश के सबसे सूबे में अधिक सीटें पाने में सफल रही। इस भारी जीत का वैसे तो श्रेय मोदी और शाह की जोड़ी को दिया जा रहा है लेकिन यूपी में इस जीत के असली चाणक्य अमित शाह नहीं बल्कि भाजपा के प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल हैं। सुनील बंसल ने बूथ प्रबंधन से लेकर चुनाव प्रबंधन तक रोडमैप को लागू कर देश के सबसे बड़े प्रदेश में जीत की हैट्रिक लगाई। इसलिए यूपी में सुनील बंसल को बीजेपी का ‘पीके’ कहा जा रहा है।संघ बैकग्राउंड से संबंध रखने वाले सुनील बंसल बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी फेवरेट माने जाते हैं। सुनील बंसल को लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश में अमित शाह के सहयोगी के रूप में लाया गया था। हालांकि तब उन्हें इतनी खास तहरीज नहीं मिली थी। लेकिन ऐसे संकेत मिलने लगे थे कि बंसल के जरिये संघ यूपी में मिशन मोदी को आगे बढ़ाएगा। उन्होंने यूपी के पंचायत चुनाव में जमीनी स्तर पर काम किया। यूपी चुनाव में बूथ मैनेजमेंट से लेकर अलग-अलग कैंपेन के जरिए पांच करोड़ से ज्यादा लोगों को जोड़ने की रणनीति पर काम किया।अमित शाह के सहयोग के चलते सुनील बंसल ने बूथ स्तर बड़ा फेरदबदल किया। उन्होंने प्रदेश संगठन में ओबीसी और दलित समुदायों में से कम से कम 1,000 नए कार्यकर्ताओं को नियुक्तयां की। इतना ही नहीं उन्होंने चुनाव के दौरान हर बूथ पर औसतन 10 कार्यकर्ता नियुक्त किए। जिनके आधार पर बंसल ने जातीय समीकरणों के आधार पर प्रत्याशियों की रिपोर्ट आलाकमान को सौंपी, उसके बाद ही उनके प्रत्याशियों के टिकट फाइनल किए गए। जिसका परिणाम हुआ कि 2014 आम चुनाव में भाजपा को यूपी में 80 में से 73 मिली। यही काम उन्होंने वर्ष 2017 में संगठन मंत्री के रूप में किया और बीजेपी अपने बूते 312 सीटों पर भारी जीत के दम पर सत्ता में आने में सफल रही।मिशन 2019 में भी अमित शाह ने उन्हें अहम जिम्मेदारी सौंपी। चुनाव प्रचार से लेकर बूथ मैनेजमेंट और आईटी सेल की जिम्मेदारी सुनील बंसल के पास थी। प्रत्याशियों के फीडबैक से लेकर किसे कहां से खड़ा करना है। जिसके तहत सुनील बंसल ने बीजेपी के एक करोड़ से ज्यादा कार्यकर्ताओं से संवाद किया और फीडबैक लिया और उनकी यही रणनीति बीजेपी को यूपी में 50 फीसदी से ज्यादा वोट दिलाने सफल रही। जब उत्तर प्रदेश में महागठबंधन बन रहा था तभी अमित शाह ने 51 फीसदी वोट का टारगेट तय किया था। क्योंकि बीजेपी को 2014 में 43 फीसदी से ज्यादा वोट मिले थे। लेकिन बंसल की शानदार रणनीति ने बीजेपी को यूपी में 60 से अधिक सीटों पर सफलता दिलाई।