EBM News Hindi

महिंद्रा जीतो, सुप्रो व टाटा एस अब होगी बंद, सेफ्टी टेस्ट में हुए फेल

भारत में वाहनों की सुरक्षा के प्रति लगातार सरकार कड़े कदम उठा रही है तथा नए नियमों को लागू कर रही है। हाल ही में 1 अप्रैल 2019 से नए सेफ्टी नियम लागू किये गए है जिसके तहत वाहनों में एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम लगा होना अनिवार्य होना चाहिए।
अब आगामी अक्टूबर में नए क्रैश नियम लागू होने है जिसके लिए वाहनों की टेस्टिंग की जा रही है। इस नियम के तहत 9 से कम सेट वाले वाहनों में एयरबैग, स्पीड वार्निंग सिस्टम, सीट बेल्ट रिमाइंडर, स्पीड वार्निंग सिस्टम जैसे फीचर अनिवार्य रूप से लगे होने चाहिए।
इसके साथ ही क्रैश टेस्ट को भी इन वाहनों को पास करना होगा। चूंकि मिनीवैन उस कैटगरी में आते है जिसमें हैचबैक जैसे वाहन आते है जिसे M1 कैटेगरी कहा गया है। इसलिए मिनीवैन जैसे वाहनों को यह क्रैश टेस्ट पास करना बहुत मुश्किल भरा काम होगा।
भारत में ग्रामीण इलाकों में मिनीवैन वाहन को आम लोगों के दैनिक उपयोग का सबसे उपयुक्त साधन माना जाता है। लेकिन जल्दी ही लागू होने वाले इन नए नियमों की वजह से अधिकतर मिनी वैन बंद किये जा सकते है।
हाल ही में हुए टेस्ट के दौरान लोकप्रिय मिनीवैन जैसे महिंद्रा जीतो, सुप्रो तथा टाटा एस फेल हो गए है तथा नए नियम लागू किये जाने के बाद इनकी बिक्री बंद की जा सकती है। जिससे आम आवागमन के साधन प्रभावित हो सकते है।
नए सेफ्टी नियमों के तहत नए फीचर्स नहीं लगाए जाने से इस सेगमेंट के कई वाहन बंद किये जा सकते है। इन वाहनों के टेस्ट में पास नहीं होने पर सरकार इन पर रोक लगा सकती है। हालांकि इन्हें पड़ते करने पर मिनीवैन की कीमतें बढ़ जाएंगी।