EBM News Hindi

मंत्री अश्विनी कुमार चौबे को अफसोस, डॉक्टर बनकर कर पाता समाज की सेवा

0

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Choubey) को डॉक्टर (Doctor) नहीं बनने का मलाल है. केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने रविवार को अपने दिल की बात बयां कर दी. पटना (Patna) में एक निजी अस्पताल (Private Hospital) के उद्घाटन कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय पहुंचे थे.

जहां डॉक्टरों को संबोधित करते वक्त अश्विनी चौबे ने अपने दिल की बात कही. अश्विन चौबे ने डॉक्टरों की तारीफ करते हुए कहा, ‘मुझे भी डॉक्टर बनना था. माता-पिता ने मेरा नाम भी अश्विनी कुमार इसीलिए रखा था. लेकिन मैं डॉक्टर नहीं बन पाया. इसका मुझे अफसोस है.’

माता-पिता का सपना चकनाचूर हो गया
केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि मैंने 1972 में ही मेडिकल क्वालिफाई किया था. लेकिन गोविंदाचार्य ने मुझे सलाह दी थी कि तुम्हें डॉक्टर नहीं बनना है. बल्कि डॉक्टर के कारखाने में जाना है. यह सोचकर मैं डॉक्टर नहीं बना और मेरे माता-पिता का सपना चकनाचूर हो गया. अश्विनी चौबे ने मलाल जताते हुए कहा कि आज मुझे अफसोस है कि काश, मैं डॉक्टर होता तो शायद और समाज की सेवा अपने हाथों से कर पाता.