EBM News Hindi

भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की कारें बाहर से दिखती है टैंक तो अंदर से है लगजरी होटल

0

भारत ने अभी हाल ही में अपना 73वां स्वतंत्रता दिवस को पूरे देश के साथ मनाया है। इस स्वंतत्रता दिवस के अवसर के पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूरे देश को संबोधित किया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भारत के 14वें राष्ट्रपति है।भारत में राष्ट्रपति पद ग्रहण करने के बाद राष्ट्रपति को कई सुविधाएं मिलती है। साथ ही इसमें उनकी सुरक्षा से लेकर कई लग्जरी सुविधाओं का ध्यान रखा जाता है। लेकिन देश के प्रथम नागरिक होने के नाते राष्ट्रपति को मिलने वाली सुविधाओं में बहुत ही गोपनीयता होती है।

भारत का जो भी नागरिक देश का राष्ट्रपति बनता है, उसे प्रोटोकॉल के तहत नई मिलती है। सुरक्षा को ध्यान में रखकर उस कार का रजिस्ट्रेशन नंबर तक की डिटेल किसी को नहीं दी जाती।

ऐसा प्रेसीडेंट की सिक्योरिटी के लिए किया जाता है। इस कार में लाइसेंस प्लेट नहीं होती। इसकी जगह अशोक स्तंभ का चित्र बना होता है। इस कार की कीमत प्रधान मंत्री के कार से भी अधिक होती है। अभी हाल में राष्ट्रपति कोविंद जिस कार की सवारी करते है, उसकी कीमत 10 से 11 करोड़ रुपयें बताई जाती है।

इन कारों की सबसे बड़ी खासियत यह है कि बाहर ये किसी टैंक से कम नहीं हैं और अंदर से किसी 5-स्टार होटल से कम नहीं है। इन पर बम या गोलियों का असर नहीं होता है। इनमें कई प्रीमियम फीचर्स दिए गए हैं। इन कारों की कीमत 100 करोड़ से भी ज्यादा तक जाती है। तो डालते हैं इन कारों पर एक नजर. भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद थे। बिहार के आम गांव से ताल्लुक रखने वाले डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद को भारत के प्रथम नागरिक बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। 1947 मे राष्ट्रपति को कैडियलिक कंट्री कार उपलब्ध करायी गई थी। यह कार उस वक्त की लग्जरी कारों में शामिल की जाती थी।