EBM News Hindi

बलूचिस्तान में पाकिस्तान की गुंडागर्दी, बलोच कार्यकर्ताओं को गायब करने पर महिलाओं का प्रदर्शन

0

क्वेटा, एएनआइ। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद भारत पर कश्मीर में मानवाधिकार हनन का झूठा आरोप लगा रहा पाकिस्तान खुद की गिरेबां में झांककर नहीं देखता। मानवाधिकार हनन पर अब खुद पाकिस्तान का चेहरा बेनकाब होने लगा है। बलूचिस्‍तान प्रांत के लोग पाकिस्तान के इस रवैये के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं। आए दिन वो पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन करते हैं और उसकी पोल खोलते हैं। इसी कड़ी में शनिवार को क्वेटा में बलूच महिलाओं ने प्रदर्शन किया। उन्होंने यह प्रदर्शन बलूचिस्तान के लोगों को जबरन गायब होने को लेकर किया।

जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान सरकार और सेना द्वारा बूलचों पर किए जा रहे अत्याचार के खिलाफ लामबंद हुए बलूचिस्‍तानियों की पाकिस्तानी सरकार आवाज दबाने की कोशिश कर रही है। इसी वजह से यहां के लोगों विशेषकर प्रदर्शनकारियों को जबरन गायब करा दिया जा रहा है। गायब हुए लोग कहां और किस हालत में रहते हैं इसकी जानकारी किसी को नहीं है। इसी को लेकर क्वेटा में बलूच महिलाओं ने प्रदर्शन किया।

UNHRC और UNGA सत्र के दौरान प्रदर्शन 

बता दें कि सितंबर में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNHRC) की बैठक के दौरान यूएन मुख्यालय के बाहर  बलूचिस्‍तान में पाकिस्तान द्वारा किए जा रहे मानवाधिकार हनन को लेकर प्रदर्शन हुआ था। यही नहीं इसके बाद सितंबर में ही संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र (UNGA) के दौरान भी न्यूयॉर्क में इमरान खान के भाषण के दौरान प्रदर्शन किया था।