EBM News Hindi

पीएम मोदी बोले, पीड़ितों को न्याय देने के बजाय आतंकियों का बचाव करने लगती है कांग्रेस

ओमप्रकाश तिवारी, मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को मुंबई में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जब भी आतंक से पीड़ितों को न्याय देने की बात आती है, तो कांग्रेस और उसके साथी आतंकियों का बचाव करने लगते हैं।

दोषियों को पकड़ने के बजाय मिर्ची का व्‍यापार कर रहे

प्रधानमंत्री ने बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स में भाजपा-शिवसेना महागठबंधन की सभा को संबोधित करते हुए 1993 के बम धमाकों की याद दिलाई। उन्होंने कहा कि 1993 के बम धमाकों का घाव कभी भी मुंबई, महाराष्ट्र और हिंदुस्‍तान भूल नहीं सकते। धमाकों में मारे गए परिवारों के साथ उस समय की सरकारों ने कोई न्याय नहीं किया। जिन लोगों ने हमारे अपनों को मारा, वो भाग निकले। और उसकी वजह अब खुल करके सामने आने लगी है। ये लोग दोषियों को पकड़ने के बजाय उनके साथ मिर्ची का व्यापार कर रहे हैं। कभी मिर्ची का व्यापार , कभी मिर्ची से व्यापार ।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस शासनकाल में मुंबई में अक्सर होनेवाली आतंकी घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि एक समय था, जब मुंबई आतंकियों का प्रवेशद्वार बन गई थी। यहां कभी भी आतंकी हमले हो जाते थे। तब विदेशों में बैठे आतंकी संगठन खुद आगे आकर हमलों की जिम्मेदारी लेते थे। लेकिन तब की सरकारें कहती थीं, कि नहीं-नहीं ये आपने नहीं, हमारे लोगों ने ही किया है। प्रधानमंत्री लोगों से पूछा – क्या अब भी वही हो रहा है ? फिर स्वयं ही जवाब दिया, कि अब आतंक को पालने वाले जानते हैं कि यदि अब कोई गलती की, तो उसकी पूरी सजा मिलेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक और बालाकोट सिर्फ दो-तीन शब्द नहीं हैं। ये भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगियों की रीति-नीति और पहचान भी है।