EBM News Hindi

पाकिस्‍तान से रिहाई के बाद एक अलग लुक में सामने आए थे विंग कमांडर अभिनंदन, धनोआ के साथ भरी थी उड़ान

नई दिल्‍ली। वीर चक्र विजेता विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान (Wing Commander Abhinandan Varthman) आज किसी भी पहचान के मोहताज नहीं रह गए हैं। उनका नाम सबसे पहले देश और दुनिया ने वर्ष 2019 में उस वक्‍त सुना था, जब भारत ने पाकिस्‍तान के बालाकोट में स्थित आतंकी कैंपों पर एयर स्‍ट्राइक (Balakot Air Strike) की थी। 27 फरवरी 2019 को उन्‍होंने अपने मिग-21 लड़ाकू विमान से पाकिस्‍तान के आधुनिक एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था। ये भी अपने-आप में एक बड़ी घटना थी। ऐसा इसलिए भी था, क्‍योंकि इन विमानों के साथ हुई दुर्घटनाओं के चलते इन्‍हें फ्लाइंग कॉफिन तक का नाम दिया गया था। इस एयर स्‍ट्राइक के बाद पाकिस्‍तान ने न तो कभी ये कबूला कि उसका कोई जेट इस तरह से मार गिराया गया और न ही इसमें पायलट की मौत की बात ही कबूल की थी। हालांकि, स्‍थानीय रिपोर्ट में इस बात का जिक्र जरूर सामने आया था। पाकिस्‍तान ने कभी ये भी नहीं कबूला कि बालाकोट में आतंकी कैंप मौजूद हैं।

इस एयर स्‍ट्राइक के दौरान वर्धमान का जेट दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था और उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया था। 28 फरवरी को पाकिस्‍तान वर्धमान को सही सलामत छोड़ने पर राजी हुआ था। हालांकि, इसका एलान करते हुए पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सदन में इसको पाकिस्‍तान का दोस्‍ताना रवैया बताया था, जबकि हकीकत ये थी कि पाकिस्‍तान इस बात से घबरा गया था कि यदि वर्धमान को नहीं छोड़ा गया तो उसका बुरा हाल होगा। ये बात अब पूरी तरह से दुनिया के सामने आ भी गई है। इस सच्‍चाई का एक वीडियो जबरदस्‍त वायरल हो रहा है, जो उसकी कलई को खोल रहा है।