EBM News Hindi

पाकिस्तान और चीन के बाद इस देश ने भी उगले बगावती सुर, पहले कश्मीर पर भारत का विरोध और अब

कुआला लुम्पुर, रॉयटर्स। भारत सरकार द्वारा 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेते हुए वहां लगा हुआ Article 370 हटा दिया। इससे पूरी दुनिया में सबसे बड़ा झटका पाकिस्तान को लगा, क्योंकि वह कश्मीर में अपने गलत मंसूबों से भारत में जहर फैलाना चाहता था। हालांकि, भारत सरकार द्वारा एक झटके में 370 को हटा दिया गया। वहीं, पाकिस्तान ने दुनिया के मंच पर भी यह मुद्दा उठायास, लेकिन उसे इसमें सफलता नहीं मिली। सिर्फ चीन जो हमेशा से ही साथ रहता है पाकिस्तान के उसने कश्मीर पर भारत के खिलाफ बयान दिया था। अब एक और देश है, जो इस समय कश्मीर को लेकर भारत के खिलाफ बयान दे रहा है। यह देश है मलेशिया।

भारत से ऐसे लड़ेगा मलेशिया

मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने हाल ही में कश्मीर को लेकर भारत को निशाना पर लिया। उन्होंने जम्मू-कश्मीर को एक देश बताया जहां भारत ने घुसपैठ की। महातिर ने कहा था कि संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों की अनदेखी उसके प्रति अनादर और कानून तोड़ने वाली है। मलेशिया के प्रधानमंत्री के ऐसे बयान के बाद उसे मुंह तोड़ जवाब देने की तैयारी की गई और भारत की आलोचना से नाराज भारतीय कारोबारियों ने मलेशिया से पाम तेल आयात के नए सौदे करना बंद कर दिया है।

हालांकि, भारत सरकार द्वारा इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया, लेकिन घरेलू खाद्य तेल उद्योग ने मलेशिया को कड़ा जवाब दिया। अब जहां इसके बाद मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद का एक बयान सामने आया है। मलेशिया की समाचार एजेंसी Bernama के अनुसार, प्रधान मंत्री महाथिर मोहमद ने बुधवार को कहा कि मलेशिया, भारत के साथ कूटनीतिक रूप से बात करेगा। बता दें कि यह बयान तब सामने आया है जब पिछले सप्ताह खबर सामने आई थी कि प्रधानमंत्री मोहम्मद के कश्मीर पर नई दिल्ली की आलोचना के बाद कुछ कदम उठाए जा सकते हैं, जिसमें मलेशिया के कुछ उत्पादों के आयात पर अंकुश लगाया जा सकता है, इसमें पाम तेल का भी जिक्र किया गया।

जाकिर नाइक बोला- NIA के पास कोई सबूत नहीं, आतंकवाद से नाम जोड़ना दुर्भाग्यपूर्ण