EBM News Hindi

पश्चिम बंगाल: ममता बनर्जी ने बीजेपी के विजय जुलूसों पर लगाया प्रतिबंध

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के विजय जुलूसों पर प्रतिबंध लगा दिया। उन्होंने कहा कि बीजेपी के विजय जुलूसों की वजह से बंगाल में हिंसा हो रही है। ममता ने पुलिस ने कहा कि अगर बीजेपी नेता कोई समस्या पैदा करते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। गौरतलब है कि बंगाल में बीजेपी ने शानदार प्रदर्श करते हुए 18 सीटें जीती हैं।
ममता नॉर्थ 24 परगना जिले के निमता में मारे गए टीएमसी नेता के घर पहुंची थी। ममता ने मारे गए टीएमसी नेता निर्मल कुंडू के घर के बाहर लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि “परिवार ने मुझे बताया कि निर्मल स्थानीय बीजेपी का दुश्मन बन गया था, क्योंकि वो उसने दिल्ली में नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह का सीधा प्रसारण देखने के लिए उसके घर के बाहर विशाल एलसीडी स्क्रीन लगाने का विरोध किया था। यह कोई साधारण हत्या नहीं है। साजिश और गहरी होती जाती है। आपराधिक जांच विभाग (CID) हत्या की जांच करेगा। यहीं पर सीएम ने पुलिस को निर्देश दिया कि वो बीजेपी के विजय जुलूसों को अनुमति न दें क्योंकि इससे कानून और व्यवस्था की समस्या पैदा हो रही है। पुलिस को उन बीजेपी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए जो कानून और व्यवस्था को बिगाड़ने का प्रयास करते हैं।
लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे पिछले महीने 23 मई को घोषित किए थे। नतीजे घोषित होने के बाद राज्य में कम से कम सात लोग मारे गए हैं। बीजेपी के राज्य के नेताओं ने दावा किया है कि कुंडू की हत्या तृणमूल कांग्रेस में अंदरुनी गुटबाजी की वजह से हुई। लेकिन स्थानीय पुलिस ने गुरुवार को सुमन कुंडू को हत्या के पीछे होने का संदेह करते हुए गिरफ्तार कर लिया। मंगलवार शाम को पश्चिम बंगाल में डम डम नगरपालिका क्षेत्र के वार्ड 6 के तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल कुंडू की गोली मारकर हत्या कर दी गई। ये घटना सीसीटीवी में कैद हो गई। उन पर तीन बाइक सवारों ने हमला किया। बैरकपुर जोन 2 के डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस आनंद राय का कहना है कि मन कुंडू को एक सक्रिय भाजपा कार्यकर्ता के रूप में जाना जाता है। जांच के दौरान हमने मुर्शिदाबाद जिले के बरोआ इलाके से एक अपराधी सुजय दास को गिरफ्तार किया और एक देशी पिस्तौल और तीन कारतूस जब्त किए। इस मामले में और भी संदिग्ध हैं।