EBM News Hindi

दिल्ली चुनाव परिणाम पर बोले शाह, देश के गद्दारों; भारत-पाक मैच जैसे बयानों से पार्टी को हुआ नुकसान

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार के कारणों पर रोशनी डालते हुए पहली बार माना कि कुछ पार्टी नेताओं की नफरत भरी भाषा की पार्टी को बड़ी कीमत चुकानी पड़ी है। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा नेताओं को ‘गोली मारो’ और ‘भारत-पाकिस्तान मैच’ जैसे नफरत भरे भाषण नहीं देने चाहिए थे। बहरहाल, शाह ने कहा कि भाजपा केवल जीत या हार के लिए चुनाव नहीं लड़ती है बल्कि चुनावों के मार्फत अपनी विचारधारा के प्रसार में भरोसा करती है।

भाजपा के रणनीतिकार अमित शाह ने गुरुवार को एक समाचार चैनल के कार्यक्रम में कहा, ‘गोली मारो’ और ‘भारत- पाक मैच’ जैसे बयान नहीं दिए जाने चाहिए थे। हमारी पार्टी ने इस तरह के बयानों से खुद को अलग कर लिया है। फिर भी संभव है कि इस तरह की टिप्पणियों से पार्टी की हार हुई है। इसी के चलते हमारी पार्टी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी।

एक सवाल के जवाब में शाह ने स्वीकार किया कि दिल्ली चुनावों पर उनका आकलन गलत साबित हुआ है। उनका यह मानना कि इस विधानसभा चुनाव में भाजपा को 45 सीटें मिलेंगी एकदम गलत था। उन्होंने ईवीएम से करंट निकलने वाले अपने बयान का भी बचाव किया। उन्होंने कहा कि भाजपा अब दिल्ली विधानसभा में एक जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभाएगी। उल्लेखनीय है कि पिछले विधानसभा में सिर्फ तीन सीटें पाने वाली भाजपा को इस बार भी सिर्फ आठ सीटों से संतोष करना पड़ा है।