EBM News Hindi

तेलंगाना: CM चंद्रशेखर राव बोले, सरकार ने नहीं किया रोडवेज कर्मचारियों को बर्खास्त

0

हैदराबाद, एएनआइ। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने आरटीसी कर्मचारियों की बर्खास्ती पर कहा कि सरकार को किसी को बर्खास्त करने की कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि सड़क परिवहन निगम (आरटीसी) के कर्मचारियों ने ड्यूटी पर ना आकर खुद को बर्खास्त कर दिया। उन्होंने सोमवार को  कहा कि सरकार और आरटीसी के दृष्टिकोण से कर्मचारी केवल 1,200 हैं। सरकार को दूसरों को बर्खास्त करने की कोई आवश्यकता नहीं है। किसी ने भी किसी को बर्खास्त नहीं किया है। वे सभी खुद नौकरी छोड़कर गए हैं,  क्योंकि वे समय समाप्त होने से पहले कर्तव्यों की सूचना नहीं देते थे। राव ने कहा कि उन्होंने सरकार और आरटीसी द्वारा की गई अपील का कोई जवाब नहीं दिया।

उन्होंने कहा कि मैंने डीजीपी से आरटीसी कर्मचारियों को रोकने के लिए विशेष दल बनाने के लिए कहा है। ताकी जिन लोगों ने संगठन छोड़ दिया है वह बस डिपो या बस स्टेशनों पर गड़बड़ी ना कर सकें।  डीजीपी 1,200 को छोड़कर बाकियों के खिलाफ उचित कार्रवाई करेगा। इस दौरान राव ने स्पष्ट कर दिया है कि राज्य सरकार को आरटीसी के निजीकरण करने में कोई दिलचस्पी नहीं है।

परिवहन प्रधान सचिव सुनील शर्मा की अध्यक्षता में एक समिति ने मुख्यमंत्री को आरटीसी पर प्रस्ताव प्रस्तुत किए हैं, जिन पर सोमवार को प्रगति भवन में आयोजित समीक्षा बैठक में चर्चा की गई। बैठक में मंत्री पुव्वदा अजय कुमार, वेमुला प्रशांत रेड्डी और कई वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भी उपस्थित थे। राव ने कहा कि सरकार का लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि लोगों को असुविधा का सामना न करना पड़े और इसलिए सरकार आरटीसी को मजबूत करने के लिए सभी उपाय कर रही है। आज की तारीख में  आरटीसी के पास 10,400 बसें हैं। उन्हें तीन श्रेणियों में विभाजित किया । इसमें से 50 प्रतिशत बसें आरटीसी की हैं और 30 प्रतिशत बसों को भाड़े पर लिया गया था। लेकिन इन सभी को  वे आरटीसी के तहत ही काम करना होगा।