EBM News Hindi

जानिए अमेठी में राहुल गांधी को मात देने के बाद क्या बोलीं स्मृति ईरानी

नई दिल्ली। इस बार लोकसभा चुनाव में सबसे बड़ा उलटफेर उत्तर प्रदेश के अमेठी में देखने को मिला, जहां कांग्रेस अध्यक्ष अपनी पारंपरिक सीट से चुनाव हार गए। भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने यहां राहुल गांधी को बड़े अंतर से मात दी है। इस जीत के बाद स्मृति ईरानी ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि मैं इस बात से बहुत खुश हूं कि राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भरोसा दिखाया। अमेठी के लोगों ने वोट के जरिए अपना विश्वास मुझमे जताया है और मैं उनका शुक्रिया अदा करती हूं। स्मृति ईरानी ने कहा कि चुनाव हारने के बाद भी मैं पिछले पांच साल से यहां काम कर रही हूं, एक बार फिर से मैं लोगों की सेवा करूंगी, लेकिन इस बार चुनाव जीतकर लोगों की सेवा करूंगी।बता दें कि चुनाव आयोग की आधिकारिक घोषणा के अनुसार भारतीय जनता पार्टी अबतक की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है और अकेले दम पर भाजपा ने 288 सीटों पर जीत दर्ज कर ली है, जबकि 15 सीटों पर आगे चल रही है। यानी की भाजपा के खाते में 303 सीटें जाती दिख रही है। वहीं कांग्रेस की बात करें तो एक बार फिर से कांग्रेस को शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा है। उत्तर प्रदेश में महागठबंधन भी भाजपा को कुछ खास चुनौती नहीं दे सका, यहां भी भाजपा ने जबरदस्त जीत दर्ज करते हुए गठबंधन को बाहर का रास्ता दिखाया है। यूपी में भाजपा ने 60 सीटों पर जीत दर्ज की है, जबकि 2 सीटों पर आगे चल रही है। जबकि बसपा के खाते में 9 सीटें आ चुकी है, एक सीट पर आगे चल रही है। वहीं सपा सिर्फ पाांच सीटों पर ही जीत दर्ज कर सकी है।

कांग्रेस को महज 50 सीटों पर जीत हासिल हुई है, जबकि 2 सीटों पर वह आगे चल रही है, यानि कि कांग्रेस को कुल मिलाकर 52 सीटें मिलती नजर आ रही हैं, लिहाजा एक बार फिर से कांग्रेस को लोकसभा में प्रतिपक्ष का दर्जा हासिल करने में मुश्किल होगी। बता दें कि नेता प्रतिपक्ष का पद उसी पार्टी को मिलता है जिसके पास कम से कम 55 सीटें हो। पिछले लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस सिर्फ 44 सीटों पर जीत दर्ज कर सकी थी।