EBM News Hindi

चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही के लिए के लिए RBI का अनुमान, 3 से 3.1 फीसदी रह सकती है महंगाई दर

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अप्रैल से सितंबर की छमाही महंगाई दर का अनुमान बढ़ाकर 3 से 3.1 प्रतिशत कर दिया है। वहीं, दूसरी छमाही के लिए महंगाई का अनुमान 3.4 से 3.7 फीसदी रहने का लक्ष्य रखा है। जबकि इससे पहले अप्रैल में महंगाई दर 2.9 से 3 प्रतिशत तक की रहने की उम्मीद जताई थी। बता दें कि आरबीआई ने आज कई बड़े फैसले लिये हैं। जिसमें ब्याज दरों को लेकर कई बदलाव हुए हैं। ब्याज दरें तय करते वक्त आरबीआई खुदरा महंगाई दर को ध्यान में रखता है।

बता दें कि आरबीआई ने लगातार तीसरी बार रेपो रेट में 25 आधार अंकों (0.25 फीसदी) की कटौती की है। इस कटौती के बाद रेपो रेट की दर 6.00 फीसदी से घट कर 5.75 फीसदी हो गई है। आज मौद्रिक नीति की समीक्षा के बाद आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने इस बात की घोषणा की। माना जाता है कि जैसे ही RBI रेपो रेट में कमी करता है, उसके बाद बैंक अपनी कर्ज की दर भी घटाते हैं, जिससे लोगों को होम और वाहन लोन सहित ज्यादातर लोन सस्ते में मिलने लगते हैं। इस तरह से कह सकते हैं कि आरबीआई का यह फैसला लोगों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।