EBM News Hindi

गोरखपुर ही नहीं वाराणसी और अयोध्या भी है लश्‍कर आतंकियों के निशाने पर Gorakhpur News

गोरखपुर, । नेपाल के रास्ते कुछ आतंकियों के गोरखपुर होते हुए भारत में घुसने की खबर और खुफिया एजेंसियों की तरफ से जारी अलर्ट के बाद गोरखपुर व आसपास के जिलों में सतर्कता बढ़ा दी गई है। बताते हैं कि इन आतंकियों को गोरखपुर में प्रवेश कराने में नेपाल में ठिकाना बनाए लश्कर आतंकी मो. उमर मदनी की भूमिका है। मो. उमर मदनी मार्च और मई में नेपाली मूल के एक युवक के साथ गोरखपुर, वाराणसी और अयोध्या की यात्रा कर महत्वपूर्ण स्थानों की रेकी की थी। इन शहरों में रुककर उसके कुछ लोगों से मिलने की भी सूचना खुफिया एजेंसियों को मिली है।

भारत में 10 साल की सजा काट चुका लश्कर आतंकी

लश्कर आतंकी मो.उमर मदनी 15 साल पहले दिल्ली में अमेरिकी डालर और पाकिस्तान में छपी पांच लाख रुपये की जाली भारतीय मुद्रा के साथ गिरफ्तार किया गया था। उस समय खुफिया एजेंसियों ने बताया था कि टेरर फंडिंग के लिए मदनी, रुपये लेकर भारत आया था। बाद में उसे 10 साल की सजा सुनाई गई थी। वर्ष 2016 में उसकी सजा पूरी हुई थी। जेल से छूटने के बाद नेपाल में जनकपुर जिले के बलकटवा में उसने अपना ठिकाना बना लिया है। बताते हैं कि वहीं से भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए स्लीपिंग माड्यूल तैयार करने में जुटा है।

जम्मू और कश्मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाए जाने के बाद बौखलाए आतंकियों के समुद्री सीमा या नेपाल के रास्ते भारत में प्रवेश करने की कोशिश की खुफिया एजेंसियों ने चेतावनी जारी की थी। बताते हैं कि इसको देखते हुए सुरक्षा एजेंसियां चूंकि पहले से सतर्क हैं, इसलिए आतंकियों ने भारत और नेपाल को जोडऩे वाली पगडंडियों का सहारा लिया है।