EBM News Hindi

गोडसे वाले बयान पर प्रज्ञा ठाकुर ने पार्टी को भेजा जवाब, कहा- अनुशासन में रहूंगी

नई दिल्ली। महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाली भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur) ने पार्टी की अनुशासन समिति को अपना जवाब भेज दिया है। बीजेपी सांसद ने कहा कि अगर जरूरत हुई तो वह अपनी बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के सामने भी रखेंगी। उन्होंने कहा कि पार्टी में एक अनुशासन है और वे उसके तहत काम करेंगी।साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे, जिसपर काफी बवाल मचा था। पार्टी की अनुशासन समिति ने प्रज्ञा ठाकुर से इस मामले में सफाई मांगी थी। अनुशासन समिति ने अनंत कुमार हेगड़े और नलिन कटील को भी उनके विवादित बयानों के लिए नोटिस भेजा था।

प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान पर कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दलों ने पार्टी को घेरना शुरू कर दिया। वहीं, ये बयान देने के कुछ घंटे के भीतर ही प्रज्ञा ठाकुर ने माफी मांग ली थी लेकिन फिर भी बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा था। इसको लेकर पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू के दौरान प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि भले ही उन्होंने इस मुद्दे पर माफी मांग ली हो, लेकिन वे अपने मन से साध्वी प्रज्ञा को कभी माफ नहीं कर पाएंगे, उन्होंने एक शर्मनाक बात कही है, जिसकी जितनी आलोचना की जाए वो कम है।

पीएम मोदी के इस बयान पर प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि संसद के सदस्य के रूप में वह जल्द ही पीएम मोदी से मिलेंगी। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा, ‘मैंने यह चुनाव पीएम मोदी की देश भर में लोकप्रियता के कारण जीता है। मैं उनसे भोपाल के लोकसभा क्षेत्र के लोगों से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करने के लिए एक भाजपा सदस्य और एक सांसद के रूप में जल्द ही मिलूंगी।” बता दें कि प्रज्ञा ठाकुर मालेगांव ब्लास्ट केस में आरोपी भी हैं और उनको एनआईए कोर्ट ने सप्ताह में एक बार अदालत में पेश होने का निर्देश दिया है, इस मामले में साध्वी प्रज्ञा 7 जून को अदालत में पेश होंगी।