EBM News Hindi

कच्‍चे अंडे खाने से हो सकता है ये संक्रमण, बरसात में तो ब‍िल्‍कुल भी न खाएं

0

अंडे, प्रोटीन का सबसे बड़ा स्‍त्रोत होता है। जो लोग जिम जाते है वो लोग प्रोटीन डाइट के ल‍िए अंडों का खूब सेवन करते हैं। लेक‍िन कई लोग प्रोटीन के ल‍िए अंडे कच्‍चे तक खा लेते हैं। लेकिन आपको जानकर हैरत होगी कि ज्‍यादा प्रोटीन लेने की जगह आप बैक्‍टीरिया भी खा सकते हैं। दरअसल कच्चे अंडे में कई तरह के बैक्टीरिया हो सकते हैं इसलिए अंडों को पकाकर खाना ज्यादा अच्छा होता है।91% तक प्रोटीन मिलता है। इसका कारण यह है कि तापमान बढ़ने पर अंडों में मौजूद प्रोटीन का स्ट्रक्चर बदल जाता है, जिससे ये आसानी से पच जाते

कई लोगों को गलतफहमी है क‍ि कच्चे अंडे में ज्यादा पोषक तत्व होते हैं। और इसे कच्‍चा खाना ज्‍यादा फायदेमंद होता है। अब अगर फैक्ट की बात करें तो ऐसा कुछ होता नहीं है। क्योंकि अंडा उबलने या पकने के बाद भी उतना ही हेल्दी व पोषक तत्वों वालो होता है जितना कि वह कच्चा रहने पर रहता है।

खाने की पसंद के तौर पर देखा जाए तो उबले अंडे खाने का चलन सबसे ज्यादा है। कई शोधों में यह बात सामने आ चुकी है कि किसी और तरीके से बेहतर है उबले अंडे खाना क्योंकि उबले अंडे जब आप खाते हैं तो उसके 90 प्रतिशत प्रोटीन को आप ग्रहण कर पाते हैं। इसके अलावा यह पाचन तंत्र के लिए भी अच्छा होता है। क्योंकि यह आसानी से पच भी जाता है।

अंडे को अगर आप कच्चा खाते हैं तो बैक्टीरिया के इंफेक्शन का डर रहता है। अंडे के छिलके में साल्मोनेला नामक बैक्टीरिया होता है जो कच्चा खाने पर इंफेक्शन का कारण बन सकता है। कुछ लोगों को कच्चा अंडा खाने से उल्टी, दस्त और बुखार की समस्या भी हो जाती है। बरसात के मौसम में तो कच्चे अंडे का उपयोग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए।