EBM News Hindi

उपेंद्र कुशवाहा ने BJP को किया आगाह- ‘पलटू राम’ कभी भी पलट सकते हैं, धोखा नंबर 2 के लिए रहें तैयार

पटना। रविवार को सीएम नीतीश कुमार के द्वारा अपने कैबिनेट का विस्तार करने के बाद एक बार फिर से सियासी पारा गर्म हो गया है, मीडिया में खबरें आ रही हैं कि नीतीश कुमार, मोदी सरकार से नाराज चल रहे हैं, हालांकि रविवार को ही सीएम ने इन सारी बातों से इंकार करते हुए कहा था कि एनडीए में कोई दिक्कत नहीं है लेकिन लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी छोड़कर महागठबंधन में शामिल होने वाले उपेंद्र कुशवाहा ने इस बारे में बीजेपी को आगाह किया है।कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार एक बार फिर से बीजेपी को धोखा देने वाले हैं और बीजेपी को जेडीयू अध्यक्ष के धोखा पार्ट-2 के लिए तैयार रहना चाहिए, दरअसल नीतीश कुमार ने रविवार को अपना कैबिनेट विस्तार किया, उन्होंने 8 नए मंत्रियों को अपने कैबिनेट में जगह दी है और ये आठों मंत्री जेडीयू से ही है, ना बीजेपी को और ना ही लोजपा को मंत्रिमंडल में जगह दी गई है, जिसके बाद कयासों का दौर जारी है कि नीतीश ने ऐसा करके मोदी सरकार से बदला लिया है।

उपेंद्र कुशवाहा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं भाजपा को बताना चाहता हूं कि नीतीश कुमार लोगों के जनादेश का अपमान करने के लिए जाने जाते हैं, लोगों के जनादेश और गठबंधन के सहयोगियों को धोखा देना उनकी पुरानी आदत है, भाजपा को ‘धोखा नंबर 2’ के लिए तैयार रहना चाहिए, वो तो पलटू राम हैं, कभी भी पलट सकते हैं। उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि ऐसा कोई सगा नहीं जिसको नीतीश ने ठगा नहीं हैं, उन्होंने कहा कि यह कहावत जल्द ही सच में बदल जाएगी और इसलिए भाजपा को सतर्क रहना चाहिए।

आपको बता दें कि नीतीश के कैबिनेट विस्तार इसलिए बातें हो रही हैं क्योंकि ऐसा कहा जा रहा है कि केंद्र की मोदी सरकार में जेडीयू को कोई मंत्री पद नहीं मिलने के कारण नीतीश कुमार नाराज चल रहे हैं, दरअसल नीतीश कुमार जेडीयू के तीन सांसदों को मंत्री बनवाना चाहते थे लेकिन इस पर सहमति नहीं बन पाई और शपथ ग्रहण से ऐन वक्त पहले जेडीयू ने मोदी सरकार को बाहर से समर्थन देने का फैसला किया था और इसलिए रविवार को बिहार में हुए कैबिनेट विस्तार में जेडीयू ने भाजपा को जगह नहीं दी।

बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (युनाइटेड) के कई विधायकों के सांसद बन जाने के बाद खाली हुए मंत्री पद भरने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया, मुख्यमंत्री ने अपनी पार्टी जेडीयू के 8 विधायकों को मंत्री बनाया है, इनमें नरेंद्र नारायण यादव, श्याम रजक, अशोक चौधरी, बीमा भारती, संजय झा, रामसेवक सिंह, नीरज कुमार और लक्ष्मेश्वर राय के नाम शामिल हैं, इस बारे में नीतीश ने कहा कि लंबे दिनों से जेडीयू मंत्रियों का विस्तार नहीं हुआ था, बस इसे पूरा किया गया है और यह रूटीन काम है, बीजेपी के साथ कोई मसला नहीं है और सबकुछ सही है।

जबकि इसके पहले जेडीयू के प्रवक्ता केसी त्यागी ने बड़ा बयान देते हुए कहा था कि ऐसा कुछ नहीं है, जगह खाली हुई थी इसलिए मंत्रियों को शपथ दिलाई गई है, रही बात मोदी कैबिनेट कि जो प्रस्ताव दिया गया था, वह जेडीयू को स्वीकार नहीं था, इसलिए जेडीयू ने तय किया है कि हम भविष्य में भी एनडीए सरकार में शामिल नहीं होंगे, यह हमारा आखिरी फैसला है।