EBM News Hindi

उपेंद्र कुशवाहा को करारा झटका, RLSP के दोनों विधायक JDU में शामिल

पटना। लोकसभा चुनाव 2019 में करारी हार के बाद राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP)के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा को एक और करारा झटका लगा है, रविवार को उनकी पार्टी के दोनों विधायक ललन पासवान और सुधांशु शेखर जदयू में शामिल हो गए, बिहार विधानसभा में रालोसपा के खाते में मात्र दो ही विधायक थे जो अब जेडीयू में शामिल हो गए हैं। ये कुशवाहा के लिए किसी वज्रपात से कम नहीं है। आज बिहार विधानसभा के स्पीकर ने दोनों विधायकों को जेडीयू में शामिल होने की इजाजत दे दी है।दोनों विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी को अपनी पार्टी का जदयू में विलय से संबंधित पत्र सौंपा। विधानसभा अध्यक्ष की मंजूरी के बाद पार्टी का जदयू में विधिवत विलय हो गया। इसके साथ ही विधानसभा में रालोसपा का अस्तित्व खत्म हो गया।आरजेडी के 80, जेडीयू के 73, रालोसपा के 2 (अब जेडीयू में), कांग्रेस के 27, लोजपा के 2, हिंदुस्तान अवाम मोर्चा (1) और अन्य के खाते में 7 विधायक हैं लेकिन आज रालोसपा के दो विधायकों के विलय के बाद अब जेडीयू की संख्या अब 73 हो गई है।आपको बता दें लोकसभा चुनाव के ठीक पहले कुशवाहा ने एनडीए छोड़कर महगठबंधन में शामिल हो गए। इसके बाद वो लोकसभा चुनाव में 5 सीटों पर लड़े, रालोसपा सभी सीटों पर चुनाव हार गई। खुद कुशवाहा को भी दोनों सीटों पर हार गए, फिलहाल, स्थिति यह हो गई है कि उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा में अब न तो कोई विधायक है और न कोई सांसद।
रिजल्ट से पहले ईवीएम की गड़बड़ी की आशंका पर कुशवाहा ने अपने समर्थकों से कहा था कि आप अपने हथियारों के साथ ईवीएम को लूटने से बचाने की कोशिश करें। उन्होंने कहा कि, मतगणना के दिन हमारे समर्थक और जनता तैयार रहे क्योंकि ये लोग कुछ भी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगर रिजल्ट लूटने की घटना हुई तो सड़कों पर खून बहेगा, जिसके बाद कुशवाहा की बहुत आलोचना हुई थी।