EBM News Hindi

उपराष्ट्रपति ने कहा- वोट पाने की खातिर लोकलुभावन वादों से बचें राजनीतिक दल

नई दिल्ली, प्रेट्र। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने वोट पाने की खातिर लोक लुभावन वादे करने के लिए राजनीतिक दलों को चेताते हुए कहा कि इससे विकास पर होने वाले खर्च प्रभावित होंगे। नायडू ने बुधवार को बेंगलुरु स्थित पीईएस विश्वविद्यालय के कानून के छात्रों को संबोधित करते हुए देश के नागरिकों से अपने जनप्रतिनिधियों का चयन करते समय सोच-विचार कर निर्णय लेने का भी आह्वान किया।

मतदान करना एक उत्तरदायित्व भी है

नायडू ने चुनावों की पूर्व संध्या पर मतदाताओं को लुभाने के लिए लोक-लुभावन वादों से देश को होने वाले नुकसान के प्रति राजनीतिक दलों को आगाह करते हुए कहा, ‘मतदान करना केवल एक अधिकार ही नहीं है, बल्कि उनका उत्तरदायित्व भी है। इसलिए मतदाता अपने प्रतिनिधियों को चुनते समय ‘4 सी (करेक्टर अर्थात चरित्र, कंडक्ट अर्थात व्यवहार, कैलिबर अर्थात बुद्धि और कैपेसिटी अर्थात क्षमता) को ध्यान में रखें।’