EBM News Hindi

इराक में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बाद भड़की हिंसा, अब तक 34 की मौत

बगदाद, एएनआई। इराक में सरकार के खिलाफ जारी प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और बदतर सेवाओं को लेकर पिछले तीन दिनों से हो रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनों ने कई जगहों पर हिंसक रूप ले लिया है। सरकार विरोधी हिंसा में अब तक 34 लोग जान गंवा चुके हैं। 1500 से से ज्यादा लोग घायल हैं। सरकार ने राजधानी बगदाद में कर्फ्यू लगा दिया है। गौरतलब है कि कई शहरों में सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़प में बुधवार की रात 11 लोगों की जान चली गई।

इराक के पीएम आदेल अब्देल मेहदी के आदेश पर कर्फ्यू लगाए जाने के बाद सैनिकों ने मध्य बगदाद के कई क्षेत्रों में गश्त की। इसके बावजूद शहर के कई इलाकों में छिटपुट विरोध प्रदर्शन जारी रहा। सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार और बेरोजगारी को लेकर एक अक्टूबर को बगदाद में शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन पूरे देश में व्यापक रूप से फैल गया।

प्रदर्शन के पहले दिन को सुरक्षा बलों के साथ झड़प में दो लोग मारे गए थे। सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों को भगाने के लिए पानी की बौछार और गोलियां चलाई थीं। वहीं बुधवार रात नसीरिया में सुरक्षा बलों के साथ झड़प में सात और अमारा शहर में चार लोग मारे गए। इससे पहले बुधवार को दिन में विरोध प्रदर्शनों के दौरान कई जगहों पर हुई झड़प में एक बच्चे समेत पांच लोगों की मौत हो गई थी। अब्देल मेहदी सरकार के खिलाफ यह सबसे बड़ा आंदोलन बताया जा रहा है। उन्होंने एक साल पहले प्रधानमंत्री की कुर्सी संभाली थी।