EBM News Hindi

अपर्णा यादव ने साधा मायावती पर निशाना, ‘जो सम्मान पचाना नहीं जानता वो अपमान भी नहीं पचा पाता’

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों में उत्तर प्रदेश में बसपा-रालोद-सपा वाले महागठबंधन को करारी हार का सामना करना पड़ा था। यूपी में बसपा को 10 और सपा को महज 5 सीटों से संतोष करना पड़ा था जबकि रालोद का खाता भी नहीं खुला था। सोमवार को बसपा प्रमुख मायावती ने इस हार की समीक्षा करने के लिए पार्टी के पदाधिकारियों की दिल्ली में बैठक बुलाई थी। सूत्रों के मुताबिक, मायावती ने हार के लिए समाजवादी पार्टी को जिम्मेदार ठहराया था। इसी के बाद मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने ट्वीट कर बसपा प्रमुख पर निशाना साधा है।
अपर्णा यादव ने कहा कि बसपा प्रमुख मायावती का रूख जानकर बहुत दुख हुआ। अपर्णा ने ट्वीट किया, ‘बहुत दुःख हुआ जानकर आज मायावती का रूख समाजवादी पार्टी के लिए, शास्त्र में कहा गया है जो सम्मान पचाना नहीं जानता वो अपमान भी नहीं पचा पाता।’
सूत्रों के मुताबिक, मायावती ने सोमवार को चुनावों में हार के लिए समाजवादी पार्टी को जिम्मेदार ठहराया था। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में मायावती ने कहा कि इस गठबंधन से यूपी में कोई फायदा नहीं हुआ। ना तो यादवों का वोट बीएसपी को ट्रांसफर हुआ ना ही जाटों के मिले। ऐसे में बसपा यूपी में 11 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनावों में अकेले लड़ेगी। सपा-रालोद गठबंधन को लेकर हालांकि अभी कोई ऐलान नहीं किया गया है।
मायावती ने बैठक के दौरान यह भी कहा कि शिवपाल यादव ने यादव वोटों को भाजपा के खेमे में शिफ्ट करा दिया। उन्होंने कहा कि यूपी में जो 10 सीटें बसपा को मिली हैं, उनमें मुसलमानों के वोटों की बड़ी भूमिका है। बता दें कि लोकसभा चुनाव में एसपी, बीएसपी और आरएलडी के गठबंधन को केवल 15 सीटें ही मिली थीं। बीएसपी 10 सीटों पर ही जीत सकी जबकि एसपी को केवल 5 सीटें मिलीं और रालोद का कोई उम्मीदवार भी इस चुनाव में जीत नहीं दर्ज कर सका। यूपी में बीजेपी को 62 सीटों पर जीत मिली थी।