EBM News Hindi

अनजाने में पाकिस्तान पहुंचे भारतीय जवान ने दिया इस्तीफा, जानिए- सेना ने क्या कहा

नई दिल्ली, पीटीआइ। भारतीय सिपाही चंदू चव्हाण ने कहा कि फोर्स में ‘उत्पीड़न’ के कारण वह सेना को छोड़ रहे हैं। बता दें कि चव्हाण 2016 में गलती से पाकिस्तान पहुंच गए थे। हालांकि, सेना ने उनके आरोप को सिरे से खारिज कर दिया, कहा कि वह एक अपराधी है और उसके खिलाफ विभिन्न अपराधों के लिए पांच अनुशासनात्मक कार्यवाही की गई है। सिपाही ने कहा, ‘जब से मैं पाकिस्तान से वापस आया हूं, मुझे सेना में लगातार परेशान किया जाता रहा है और मुझे संदेह की नजर से देखा जा रहा है, इसीलिए मैंने पद छोड़ने का फैसला किया।’ चव्हाण ने अहमदनगर में अपने यूनिट कमांडर को अपना त्याग पत्र भेजा है, उनके करीबी सूत्रों ने कहा।

देर शाम आए एक बयान में, सेना ने बताया कि हाल ही में इकाई (unit) लाइनों में नशे में पाए जाने के बाद चव्हाण के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही शुरू की गई, लेकिन वह इकाई से फरार हो गया। कहा गया कि चव्हाण को तीन अक्तूबर से तत्काल प्रभाव से ‘बिना अवकाश के अनुपस्थित’ घोषित किया गया था। कई बार काउंसलिंग और भारतीय सेना द्वारा उसके पुनर्वास के प्रयास भी उसके भावुक और शिकायती लहजे के चलते बेकार ही गए।